“Rakshabandhan”

Excerpt: This Hindi poem is about the importance of the relationship of brothers and sisters.. It's about the feelings of being a part of it.. Near or far.. We always respect this festival and cherish our childhood memories. (Reads: 109)

 

  “रक्षाबंधन”

diya-indian-festival

Hindi Poem on “Rakshabandhan”

Rakshabandhan is coming.. And like every year I write Hindi poem as a gift to my brother on Rakhi! From many years we never get chance to meet on Rakshabandhan so I always miss him on this day..

This poem is about the importance of the relationship of brothers and sisters.. It’s about the feelings of being a part of it.. Near or far.. We always respect this festival and  cherish our childhood memories..I have written all my feelings in this poem..!

 

राखी के धागे हलके फुल्के.. जज़्बातों मे गहरा वज़न टिका,
वह रिश्ता सबसे उत्तम है.. जिस मे रक्षा का है वचन जुड़ा।
रक्षाबंधन पर्व हर वर्ष हो.. इस रीत से सबका ह्रदय जुड़ा,
भाई बहन का एक ही मन है.. अद्वितीय सूत्र की गाँठ बँधा।

 

कैसे भावनाएँ जन्म ले भीतर..? कैसे उत्पन्न परवाह हो..?
चुपचाप जो बैठे बहन कही तो.. बेचैनी भाई के शब्दों मे हो,
दुआ के थाल दो नैना भरकर.. बहना माँगे भाई का सदा भला..
ईश्वर से विनती इतनी है.. पावन रिश्ता यह रहे खरा।

 

रंग सुनहरे धागों के.. चमक धमक सजावट हो..
मन भावन है नाम राखी का.. राखी का अर्थ रक्षा हो,
दूर पास.. हम कही रहे.. हुँ बहन! है सौभागय मेरा..
वीर हाथ जो सर पर रख दे.. स्पर्श छाप बन माथे सजे सदा।

 

राखी के धागे नही हलके फुल्के.. भाई बहन प्रेम हर रेशे जुड़ा..
चोखा है.. अनोखा है.. कई कड़ियों से यह नाता जुड़ा,
रक्षाबंधन पर हर बहना.. माँगे भाई का जीवन हो सुख से भरा..
ह्रदय कोश से.. नैनो से.. शब्दों से सौंपूँ आशीष सदा।

 

“राखी के धागे हलके फुल्के.. जज़्बातों मे गहरा वज़न टिका,
भाई बहन का एक ही मन है.. अद्वितीय सूत्र की गाँठ बँधा।”

happy Rakhi

###

About the Author

Pooja Rajput

Hindi poetry/story writing..

Recommended for you

Comments

Comments

  1. says

    @pooja… An excellent poem with sweetness in its each line and phrase. It is admirable the relation between brother and sister, and so says this. And, finally, being it in Hindi it reaches till the depth.. ..Keep writing more..

Leave a Reply